Thought of the day in Hindi- Caption Store

 

थॉट ऑफ़ द डे – Thought of the Day in Hindi 

थॉट ऑफ़ द डे

Thought of the day in Hindi – Section of the CAPTION STORE. Here you’ll get updated by the “thought of the day” everyday. I hope you like our collection from over the internet .

Thought of the Day in Hindi- Caption Store

मन का झुकना बहुत जरूरी है, केवल सर झुकाने से ईश्वर नहीं मिलते हैं |

 

असफलता तभी आती है, जब हम अपने आदर्श, उद्देश्य और सिद्धांत भूल जाते है !!

 


जब तक आप युवा हैं तब तक जितना हो सके उतना सीखें, क्योंकि जीवन बाद में बहुत व्यस्त हो जाता है।

 

कोई भी दिन अच्छा या खराब नहीं होता है, दिन आपकी सोच के साथ शुरू होता है, और सोच के साथ समाप्त होता है|समय आपका है, चाहों तो सोना बना लो और चाहो तो सोने में गुजार दो |

 

सबसे महान प्रेरित करने वाला आपका विश्वास ही है,क्योंकिजिस बात पर हमें विश्वास होता है,वही काम हम पूर्णता से से करते है !!

 

एक कामचोर कभी विजेता नहीं हो सकता, और एक विजेता कभी इरादा नहीं छोड़तायोग करें या ना करें, परन्तु जरूरत पड़ने पर एक दूसरे का सहयोग जरूर करें |

 

असल में वही जीवन की चाल समझता है,जो सफ़र में धूल को गुलाल समझता है

 

 

हाथ से किया गया दान और मुख से लिया गया भगवान का नाम कभी व्यर्थ नहीं जाता है |

 


गलतियाँ जीवन का एक हिस्सा है पर इन्हें स्वीकार करने का साहस बहुत कम लोगों में होता है।

 

कभी भी ऐसा कुछ न छोड़ें जो आप वास्तव में चाहते हैं। इंतजार करना मुश्किल है, लेकिन अफसोस करना ज्यादा मुश्किल है।

 

 

ऐसा कोई गुप्त काम न करोकी, उसे दूसरो से छिपाने कीजरुरत पड़े !!

 


कोयल अपनी भाषा बोलती है, इसलिए आज़ाद रहती हैं पर तोता दूसरे की भाषा बोलता है, इसलिए पिंजरे में जीवन भर गुलाम रहता है।

 


सपने वो नहीं होते जो आप सोने के बाद देखते हो, सपने वो होते हैं जो आपको सोने नहीं देते |


जिन्दगी में इन्सान किसी चीज की सच्ची कीमत केवल दो ही हालातों में समझ पाता है,उसको पाने से पहले और उसको खोने के बाद !

 

गहरी बातें समझने के लिए गहरा होना ज़रूरी है, गहरा वही हो सकता है जिसने गहरी चोटें खाई हो |

 


जब आप बात करते हैं, तो आप केवल वही दोहराते हैं जो आप पहले से जानते हैं। लेकिन अगर आप सुनते हैं, तो आप कुछ नया सीख सकते हैं।

 


हृदय को शिक्षित किए बिना मन को शिक्षित करना बिल्कुल भी शिक्षा नहीं है।

 


सीखने की क्षमता एक उपहार है। सीखने की क्षमता एक कौशल है। सीखने की इच्छा एक विकल्प है।

 


ख़ुशी के लिए काम करोगे तो ख़ुशी नहीं मिलेगी, लेकिन खुश होकर काम करोगे तो ख़ुशी ज़रूर मिलेगी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *