150+Bhagat singh quotes in Hindi & English

Bhagat singh quotes in Hindi & English

Bhagat singh quotes-One of the most famous freedom fighters in India, Bhagat Singh was born on September 27th 1907. He was a lawyer and socialist who is well-known for fighting against British rule in India.” “He is known as Shaheed-e-Azam Bhagat Singh which means ‘The Great Martyr’. This blog post will include quotes from his writings about patriotism, socialism and revolution.” “As you read these words, think about what they mean to you, if any. If you are feeling patriotic today after reading this email or blog post then share it with your friends!

BHAGAT SINGH Quotes

Bhagat singh quotes in Hindi

 

सूर्य विश्व में हर किसी देश पर उज्ज्वल हो कर गुजरता है परन्तु उस समय ऐसा कोई देश नहीं होगा जो भारत देश के सामान इतना स्वतंत्र, इतना खुशहाल, इतना प्यारा हो।
प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं।
महान आवश्यकता के समय, हिंसा अनिवार्य हैं
ज़रूरी नहीं था की क्रांति में अभिशप्त संघर्ष शामिल हो। यह बम और पिस्तौल का पंथ नहीं था.
क़ानून की पवित्रता तभी तक बनी रह सकती है जब तक की वो लोगों की इच्छा की अभिव्यक्ति करे
देशभक्तों को अक्सर लोग पागल कहते हैं।- भगत सिंह
निष्ठुर आलोचना और स्वतंत्र विचार, ये क्रांतिकारी सोच के दो अहम् लक्षण हैं।
मेरा धर्म देश की सेवा करना है।
ज़रूरी नहीं है कि क्रांति में अभिशप्त संघर्ष शामिल हो। यह बम और पिस्तौल का पंथ नहीं है।
प्रेमी और कविताएँ एक ही समाग्री से बनें हैं.
स्वतंत्रता हर इंसान का कभी न ख़त्म होने वाला जन्म सिद्ध अधिकार है।
राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है। मैं एक ऐसा पागल हूं जो जेल में भी आजाद है।
अपने दुश्मन से बहस करने के लिये उसका अभ्यास करना बहुत जरुरी है।
वे मुझे मार सकते हैं, लेकिन वे मेरे विचारों को नहीं मार सकते। वे मेरे शरीर को कुचल सकते हैं, मेरी आत्मा को नहीं।
प्यार हमेशा आदमी के चरित्र कों ऊपर उठाता है, यह कभी उसे कम नहीं करता है, बल कि प्रेम और प्रदान करता हैं
जन संघर्ष के लिए, अहिंसा आवश्यक हैं
मेरा जीवन एक महान लक्ष्य के प्रति समर्पित है – देश की आज़ादी। दुनिया की अन्य कोई आकर्षक वस्तु मुझे लुभा नहीं सकती।
आत्मा बल को शरीरिक बल के साथ जोड़ा जाना चाहिए ताकि अत्याचारी दुश्मन की दया पर बनें ना रहें
क्रांति की तलवार तो सिर्फ विचारों की शान से तेज होती है।
सर्वगत भाईचारा तभी हासिल हो सकता है जब समानताएं हों – सामाजिक, राजनैतिक एवं व्यक्तिगत समानताएं।
चीजें जैसी है आम तौर पर लोग उसके आदि हो जाते है और बदलाव के विचार से ही कांपने लगते है हमें इसी निष्क्रियता को क्रांतिकारी भावना से बदलने कि जरुरत है।
बम और पिस्तौल क्रांति नहीं लाते हैं। क्रान्ति की तलवार विचारों के धार बढ़ाने वाले पत्थर पर रगड़ी जाती है- भगत सिंह
देशभक्तों को अक्सर लोग पागल कहते हैं।
पिस्तौल और बम इंकलाब नहीं लाते, बल्कि इंकलाब की तलवार विचारों की सान पर तेज होती है और यही चीज थी, जिसे हम प्रकट करना चाहते थे।
जन संघर्ष के लिए, अहिंसा आवश्यक हैं।
महान आवश्यकता के समय, हिंसा अनिवार्य हैं।
बुराई इसलिए नहीं बढ़ रही है कि बुरे लोग बढ़ गए हैं। बल्कि बुराई इसलिए बढ़ रही है क्योंकि बुराई सहन करने वाले लोग बढ़ गये
बम और पिस्तौल से क्रांति नहीं आती, क्रांति की तलवार विचारों की सान पर तेज होती है।
इंसान तभी कुछ करता है जब वो अपने काम के औचित्य को लेकर सुनिश्चित होता है, जैसाकि हम विधान सभा में बम फेंकने को लेकर थे।
 प्यार हमेशा आदमी के चरित्र को ऊपर उठाता है, यह कभी उसे कम नहीं करता है।
किसी भी इंसान को मारना आसान है, परन्तु उसके विचारों को नहीं। महान साम्राज्य टूट जाते हैं, तबाह हो जाते हैं, जबकि उनके विचार बच जाते हैं।
व्यक्तियों को कुचलकर, वे विचारों को नहीं मार सकते
मैं यह मानता हूँ की मह्त्वकांक्षी, आशावादी एवम जीवन के प्रति उत्साही हूँ लेकिन आवश्यकता अनुसार मैं इस सबका परित्याग कर सकता हूँ सही सच्चा त्याग होगा।
 प्रेमी, पागल और कवी एक ही थाली के चट्टे बट्टे होते है अर्थात सामान होते हैं।
किसी को “क्रांति” को परिभाषित नहीं करना चाहिए| इस शब्द के कई अर्थ एवं मतलब है की जो की इसका उपयोग अथवा दुरपयोग करने वाले तय करते है।
मैं खुशी से फांसी पर चढ़ूंगा और दुनिया को दिखाऊंगा कि कैसे क्रांतिकारी देशभक्ति के लिए खुद को बलिदान दे सकते हैं।
जीवन अपने दम पर चलता है…. दूसरों के कन्धों पर तो अंतिम यात्रा पूरी होती है।
यह शादी करने का समय नहीं है। मेरा देश मुझे बुला रहा है। मैंने अपने दिल और आत्मा के साथ देश की सेवा करने के लिए एक प्रतिज्ञा ली है।
क़ानून की पवित्रता तभी तक बनी रह सकती है जब तक की वो लोगों की इच्छा की अभिव्यक्ति करे
व्यक्तियों को कुचल कर, वे विचारों को नही मार सकते।
 कानून की पवित्रता तभी बनी रह सकती है जब तक की वो लोगों की इच्छा की अभिव्यक्ति करें।
जो भी विकास के लिए खड़ा है उसे हर रूढ़िवादी चीज कि आलोचना करनी होगी उसमें अविश्वास करना होगा और उसे चुनौती देनी होगी
अगर धर्म को अलग कर दिया जाए तो राजनीति पर हम सब इकट्ठे हो सकते हैं। धर्मों में हम चाहे अलग अलग ही रहें
दिल से निकलेगी न मरकर भी वतन की उल्फत, मेरी मिट्ठी से भी खूशबू-ए-वतन आएगी।-भगत सिंह
व्यक्तियों को कुचल कर, वे विचारों को नहीं मार सकते।
सिने पर जो ज़ख्म है, सब फूलों के गुच्छे हैं, हमें पागल ही रहने दो, हम पागल ही अच्छे हैं।-भगत सिंह
राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है। मैं एक ऐसा पागल हूं जो जेल में भी आजाद है।
अगर बहरों को सुनना है तो आवाज को बहुत जोरदार होना होगा, जब हमने असेम्बली में बम गिराया तो हमारा मकसद किसी को मारना नहीं था हमने अंग्रेजी हुकूमत पर बम गिराया था।

Bhagat singh quotes in English

 

I am full of ambition and hope and charm of life. But I can renounce everything at the time of need
I am such a lunatic that I am free even in jail
If the deaf have to hear, the sound has to be very loud
Bombs and pistols don’t make a revolution. The sword of revolution is sharpened on the whetting stone of ideas
People get accustomed to the established order of things and tremble at the idea of change. It is this lethargic spirit that needs be replaced by the revolutionary spirit
I am a man and all that affects mankind concerns me.― Bhagat Singh
A rebellion is not a revolution. It may ultimately lead to that end. – Bhagat Singh
A rebellion is not a revolution. It may ultimately lead to that end. ― Bhagat Singh
Merciless criticism and independent thinking are two traits of revolutionary thinking. Lovers, lunatics and poets are made of the same stuff.
Labour is the real sustainer of society
Revolution is an inalienable right of mankind. Freedom is an imperishable birthright of all― Bhagat Singh
Lovers, Lunatics and poets are made of same stuff― Bhagat singh
I deny the very existence of that Almighty Supreme Being.― Bhagat Singh
Philosophy is the outcome of human weakness or limitation of knowledge― Bhagat Singh
Revolution is an inalienable right of mankind. Freedom is an imperishable birthright of all.― Bhagat Singh
Rebellion against king is always a sin according to every religion― Bhagat Singh
LIFE IS LIVE ITS OWN..OTHERS HELP IS NEEDED IN FUNERALS ONLY― Bhagat Singh
Merciless criticism and independent thinking are the two necessary traits of revolutionary thinking.” ― Bhagat Singh
Revolution is an inalienable right of mankind. Freedom is an imperishable birth right of all
I will climb the gallows gladly and show to the world as to how bravely the revolutionaries can sacrifice themselves for the cause – Bhagat Singh
Those revolutionaries who have, by chance, escaped the gallows should live and show to the world that they cannot only embrace gallows for the ideal but also bear the worst type of tortures in the dark, dingy prison cells. – Bhagat Singh
I deny the very existence of that Almighty Supreme Being. – Bhagat Singh
They may kill me, but they cannot kill my ideas. They can crush my body, but they will not be able to crush my spirit
This is not the time to marry. My country is calling me. I have taken a vow to serve the country with my heart and soul. – Bhagat Singh
It is here that soul-force must be blended with bodily force in order not to remain at the mercy of the tyrannical and ruthless enemy.
May the Sun in his course visit no land more free, more happy, more lovely, than this our own Country.
Merciless criticism and independent thinking are the two necessary traits of revolutionary thinking.
In instances of high-quality necessity, violence is imperative.-Bhagat Singh
Philosophy is the outcome of human weakness or limitation of knowledge
It is simple to kill individuals but you can not kill the idea.
Bombs and pistols don’t make a revolution. The sword of revolution is sharpened on the whetting stone of ideas
Love usually elevates the man or woman of guy. It by no means lowers him, furnished love be love
The sanctity of law can be maintained only so long as it is the expression of the will of the people.
Man’s duty is to try and endeavour, success depends upon chance and environments
If the deaf are to hear the sound has to be very loud
For mass struggles, nonviolence is essential.
It is easy to kill individuals but you cannot kill the ideas.
Lover, Lunatics, and poets are made from the same stuff.
Every tiny molecule of Ash is in motion with my heat I am such a Lunatic that I am free even in Jail.
Love usually elevates the man or woman of guy. It by no means lowers him, furnished love be love
For us, compromise never means surrender, but a step forward and some rest. That is all and nothing else
Lover, Lunatics, and poets are made from the same stuff.
The aim of life is no more to control the mind, but to develop it harmoniously; not to achieve salvation hereafter, but to make the best use of it here below.
If the deaf is to hear, the sounds need to be very loud.

Leave a Comment